नन्हीं खुशी

0
165
views

 

क्या फिर कोई नन्हीं खुशी, आँगन में आएगी

क्या दिन के संग हर रात मेरी मुस्कुरायेंगी 

चाँद सी झिलमिल चमकती आँखें जो तेरी 

तेरे होने से यहाँ मेरी दुनिया जगमगाएगी 

http://feeds.feedburner.com/TheAwaaz

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here